Blog

तुलसी के किए हुए टोटके इतने कारगर होते हैं। कि वह आपकी जिंदगी में एक दम से बदलाव ले कर आते हैं। इसीलिए, अगर आप जल्दी अपनी मनोकामना पूरी करना चाहते हैं। अपनी इच्छा पूरी करना चाहते हैं। तो  इस टोटके को आप जरूर आजमा कर देखिए..

चार या पांच पत्ते तुलसी के

आप चार या पांच पत्ते तुलसी के ले लीजिए। उनको एक पानी के अंदर डालकर 1 दिन के लिए रखना है। जिस पानी में डाले। वह पानी आपको एक पीतल के कलश के अंदर डालना है।

उसके अंदर चार या पांच पत्ते  डाल कर उस पानी को 24 घंटे के लिए रख दीजिए।

24 घंटे के बाद उस पानी को आप को घर के मुख्य द्वार के ऊपर छींटा दे। इस तरह से आपको घर में सभी जगह पर आपको उस पानी से छींटा देना है। 

इससे क्या होगा की तुलसी के अंदर की जो ऊर्जा है। वह आपके घर की नकारात्मक ऊर्जा को खत्म कर देगी। क्योंकि जब हम मेहनत करते हैं। और उस मेहनत का फल नहीं मिलता तो।

तुलसी की ऊर्जा

इसका मुख्य कारण हमारे घर में, हमारे इर्द-गिर्द मौजूद नकारात्मक ऊर्जा का होना होता है। जिसके कारण, हमें अपने किए हुए काम का पूरा फल नहीं मिलता। घर में लोग बीमार रहते हैं। बिजनेस नहीं चलता और हमारे पैसे में वृद्धि नहीं होती। इसलिए, तुलसी आपके घर में पैदा हुई नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करेगा। जिससे आपके घर में खुशहाली आएगी। आपकी सभी इच्छाएं पूरी होने लगेगी।

तुलसी के टोटके का खास दिन

इसलिए इस तुलसी के टोटके को अवश्य कीजिए। इसका प्रयोग कैसे करना है। वह मैं आप को बता देता हूं। आपको इस टोटके में छोटे पत्ते वाली तुलसी यूज़ करनी है। तो हमें आशा है। कि आप इस टोटके को अवश्य करेंगे इस। टोटके को करने के लिए कोई खास दिन नहीं है। सुबह या शाम कभी भी आप इस टोटके को कर सकते हैं।

तो आप इस टोटके को कीजिए और अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

 

मकर संक्रांति के दिन सूर्य मकर रेखा पर चमकता है। इसी के बाद से सूर्य दक्षिणायण से उत्तरायण हो जाता है। तब धीरे-धीरे फिजा में गर्मी बढ़ने लगती है। मकर संक्रांति के दिन सदियों से परम्परा है कि लोग सुबह पवित्र नदियों में स्नान करके घर आकर कुछ दान देते हैं। इस दिन सूर्य को जल चढ़ाने की भी परम्परा है। सूर्य को सभी ग्रहों का राजा माना जाता है। मकर संक्रांति के दिन ही सूर्य धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करता है।

मकर संक्रांति के दिन नदियों में स्नान, मंत्र जाप, दान-पुण्य, हवन, श्राद्ध और पूजा-पाठ करने का सबसे महत्वपूर्ण समय माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि अन्य दिनों की अपेक्षा इस दिन दिया गया दान सौ गुणा ज्यादा फलदायी होता है। वैसे तो मकर संक्रांति के दिन कई चीजों का दान दिया जाता है लेकिन घी, तिल, कम्बल, खिचड़ी का दान करना अत्यंत ही शुभ माना गया है। एक ऐसे काम के बारे में भी बताया गया है जो मकर संक्रांति के दिन भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

मकर संक्रांति के दिन सुबह सूर्योदय से पहले जागकर स्नान करके जल चढ़ाना चाहिए। मकर संक्रांति के दिन भूलकर भी देर तक नहीं सोना चाहिए। जो लोग यह गलती करते हैं, उन्हें ग्रहों के राजा सूर्य की वजह से जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। व्यक्ति की कुंडली में सूर्य सम्बन्धी दोष बढ़ते हैं और जीवन में बुरे समय का आगमन हो जाता है। सूर्यदेव की पूजा के लिए सुबह का समय ही सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। सूर्योदय के समय सूर्यदेव को जल अर्पित करने से उनकी विशेष कृपा मिलती है।

In this vashikaran process no person or the victim is required to come on the place, the photo of that person including his or her name is sufficient.

To implement Vashikaran mantra by photo at home approach you need to have the picture or photo of the person you want to hurt or want back him/her in your life and the spell is done on the photograph. Make sure the photo is of right person and you surely want to implement the spell over him/her, because once the person comes under the trap of this spell is not able to come out. The expert or practiced person is required to break this spell and once the spell is broken the person will not be your prisoner again.

The Vashikaran mantra using salt is used to make the person as captive of yours. It not a hard process and you don’t require to have enough experience. You need to take a small amount of salt and powered it by spell and you have to offer this spelled salt to the person who is your victim. And now the person will be yours.

The Vashikaran mantra using salt can be used to attract the person may a boy or girl. If the spell is done on Thursday it will work faster or effect more quickly. Take salt in your hand and spell the mantra on it. Mix the salt in food or drink and ask him or her to eat this in front of you. The result will be in your front. Or you also can use other trick where you have to take a spoon full of salt and remember the name of that person in front on moon light and chant the mantra during this process. After finishing with all steps throw that spelled salt in the river. In just one day you will get the result.

  • To attract someone towards you, there is a very popular and beneficial totka. Take the oil of KADVI LOKI and prepare Kajal with the help of cotton BATTI. Use this Kajal on a regular basis. To put it into your eyes play a major role to attract the desired one.

  • Take BILAVA leaves and let them try into shade. Now prepare a paste using Kapila cow milk. This paste is very important to attract someone towards you. Apply this paste on your forehead in the form of Tilak. When you will go applying this Tilak, you will find yourself able to attract the one standing in front of you.

  • There is another Vashikaran Totka, let’s come to know about it. Take Kapoor and Mensil, you need to prepare a paste using Banana. Apply this Tilak on your forehead. It is considered very important to attract others. You must use this totka.

  • Apart from the above mentioned, you may mix these four things in a proper manner like Kesar, Sindoor, Gorochan and Amla. Use this paste as a Tilak on your forehead. When you step out using this Tilak, people attract towards you. Your personality gets attractive.

  • You may also go along with this Vashikaran totka. In the morning, place a Haldi Tilak on your forehead, in the middle of Haldi Tilak put the little amount of blood of your little finger on it. Doing this attract the desired woman towards you.

Unwell person in family :

If a person is unwell in the family, then on the first Thursday, make two dough from the flour and mix it with the jaggery of the wet cheeses and press the small peeled turmeric powder and feed the cow by taking it out of the patient 7 times. . This measure will give amazing benefits for 3 consecutive Thursdays.

Money Do not last long :

If anybody has money, but they do not last long, they must do this remedies. Put black turmeric, Nagakeshar and Sindoor together in the silver container on the first Friday of Shuklakpak, touching the feet of the mother Lakshmi and keeping it in place of keeping money. Money will stop by taking this measure.

Business is falling:

If your business is falling continuously, then on the first Thursday of the Shukla party, black elephant in yellow dress, 11 gomti chakra, silver coin and 11 elephant rich cowrias tied to 108 times oops Namo Bhagwate Vasudev Namah Keeping in place of keeping will lead to progressivity in business.

Business Related to machines:

If your business is related to the machines, and on any given day, if any crude oil gets spoiled, then mix the black turmeric and mix kesar and ganga water on it on the first Wednesday. This measure will not spoil the machine quickly.

Person  suffering from epilepsy or insanity:

If a person is suffering from epilepsy or insanity, then put some black turmeric in a bowl and then clean it by showing the sunlight of frankincense. After that, holes in a piece of cloth and worn on the neck of the yarn and regularly keep the bowl of turmeric powder fresh with fresh water. Must definitely benefit.

2 Comments  Like

कोई व्यक्ति निरन्तर अस्वस्थ्य :

यदि परिवार में कोई व्यक्ति निरन्तर अस्वस्थ्य रहता है, तो प्रथम गुरूवार को आटे के दो पेड़े बनाकर उसमें गीली चीने की दाल के साथ गुड़ और थोड़ी सी पिसी काली हल्दी को दबाकर रोगी व्यक्ति के उपर से 7 बार उतार कर गाय को खिला दें। यह उपाय लगातार 3 गुरूवार करने से आश्चर्यजनक लाभ मिलेगा।

मशीनों से सम्बन्धित  व्यवसाय:

यदि आपका व्यवसाय मशीनों से सम्बन्धित है, और आये दिन कोई मॅहगी मशीन आपकी खराब हो जाती है, तो आप काली हल्दी को पीसकर केशर व गंगा जल मिलाकर प्रथम बुधवार को उस मशीन पर स्वास्तिक बना दें। यह उपाय करने से मशीन जल्दी खराब नहीं होगी।

धन टिकता नहीं: 

यदि किसी के पास धन आता तो बहुत किन्तु टिकता नहीं है, उन्हे यह उपाय अवश्य करना चाहिए। शुक्लपक्ष के प्रथम शुक्रवार को चांदी की डिब्बी में काली हल्दी, नागकेशर व सिन्दूर को साथ में रखकर मां लक्ष्मी के चरणों से स्पर्श करवा कर धन रखने के स्थान पर रख दें। यह उपाय करने से धन रूकने लगेगा।

जन्मपत्रिका में गुरू और शनि :

किसी की जन्मपत्रिका में गुरू और शनि पीडि़त है, तो वह जातक यह उपाय करें- शुक्लपक्ष के प्रथम गुरूवार से नियमित रूप से काली हल्दी पीसकर तिलक लगाने से ये दोनों ग्रह शुभ फल देने लगेंगे।

व्यक्ति मिर्गी या पागलपन से पीडि़त:

यदि कोई व्यक्ति मिर्गी या पागलपन से पीडि़त हो तो किसी अच्छे मूहूर्त में काली हल्दी को कटोरी में रखकर लोबान की धूप दिखाकर शुद्ध करें। तत्पश्चात एक टुकड़ें में छेद कर धागे की मद्द से उसके गले में पहना दें और नियमित रूप से कटोरी की थोड़ी सी हल्दी का चूर्ण ताजे पानी से सेंवन कराते रहें। अवश्य लाभ मिलेगा।

1 Comment  Like

मङ्गलो भूमिपुत्रश्च ऋणहर्ता धनप्रदः।

स्थिरासनो महाकयः सर्वकर्मविरोधकः ॥1॥

लोहितो लोहिताक्षश्च सामगानां कृपाकरः।

धरात्मजः कुजो भौमो भूतिदो भूमिनन्दनः॥2॥

अङ्गारको यमश्चैव सर्वरोगापहारकः।

व्रुष्टेः कर्ताऽपहर्ता च सर्वकामफलप्रदः॥3॥

एतानि कुजनामनि नित्यं यः श्रद्धया पठेत्।

ऋणं न जायते तस्य धनं शीघ्रमवाप्नुयात्॥4॥

धरणीगर्भसम्भूतं विद्युत्कान्तिसमप्रभम्।

कुमारं शक्तिहस्तं च मङ्गलं प्रणमाम्यहम्॥5॥

स्तोत्रमङ्गारकस्यैतत्पठनीयं सदा नृभिः।

न तेषां भौमजा पीडा स्वल्पाऽपि भवति क्वचित्॥6॥

अङ्गारक महाभाग भगवन्भक्तवत्सल।

त्वां नमामि ममाशेषमृणमाशु विनाशय॥7॥

ऋणरोगादिदारिद्रयं ये चान्ये ह्यपमृत्यवः।

भयक्लेशमनस्तापा नश्यन्तु मम सर्वदा॥ 8 ||

अतिवक्त्र दुरारार्ध्य भोगमुक्त जितात्मनः।

तुष्टो ददासि साम्राज्यं रुश्टो हरसि तत्ख्शणात्॥9॥

विरिंचिशक्रविष्णूनां मनुष्याणां तु का कथा।

तेन त्वं सर्वसत्त्वेन ग्रहराजो महाबलः॥10॥

पुत्रान्देहि धनं देहि त्वामस्मि शरणं गतः।

ऋणदारिद्रयदुःखेन शत्रूणां च भयात्ततः॥11॥

एभिर्द्वादशभिः श्लोकैर्यः स्तौति च धरासुतम्।

महतिं श्रियमाप्नोति ह्यपरो धनदो युवा॥12॥

|| इति श्री ऋणमोचक मङ्गलस्तोत्रम् सम्पूर्णम् ||

मङ्गलो भूमिपुत्रश्च ऋणहर्ता धनप्रदः।

स्थिरासनो महाकयः सर्वकर्मविरोधकः ॥1॥

लोहितो लोहिताक्षश्च सामगानां कृपाकरः।

धरात्मजः कुजो भौमो भूतिदो भूमिनन्दनः॥2॥

अङ्गारको यमश्चैव सर्वरोगापहारकः।

व्रुष्टेः कर्ताऽपहर्ता च सर्वकामफलप्रदः॥3॥

एतानि कुजनामनि नित्यं यः श्रद्धया पठेत्।

ऋणं न जायते तस्य धनं शीघ्रमवाप्नुयात्॥4॥

धरणीगर्भसम्भूतं विद्युत्कान्तिसमप्रभम्।

कुमारं शक्तिहस्तं च मङ्गलं प्रणमाम्यहम्॥5॥

स्तोत्रमङ्गारकस्यैतत्पठनीयं सदा नृभिः।

न तेषां भौमजा पीडा स्वल्पाऽपि भवति क्वचित्॥6॥

अङ्गारक महाभाग भगवन्भक्तवत्सल।

त्वां नमामि ममाशेषमृणमाशु विनाशय॥7॥

ऋणरोगादिदारिद्रयं ये चान्ये ह्यपमृत्यवः।

भयक्लेशमनस्तापा नश्यन्तु मम सर्वदा॥ 8 ||

अतिवक्त्र दुरारार्ध्य भोगमुक्त जितात्मनः।

तुष्टो ददासि साम्राज्यं रुश्टो हरसि तत्ख्शणात्॥9॥

विरिंचिशक्रविष्णूनां मनुष्याणां तु का कथा।

तेन त्वं सर्वसत्त्वेन ग्रहराजो महाबलः॥10॥

पुत्रान्देहि धनं देहि त्वामस्मि शरणं गतः।

ऋणदारिद्रयदुःखेन शत्रूणां च भयात्ततः॥11॥

एभिर्द्वादशभिः श्लोकैर्यः स्तौति च धरासुतम्।

महतिं श्रियमाप्नोति ह्यपरो धनदो युवा॥12॥

|| इति श्री ऋणमोचक मङ्गलस्तोत्रम् सम्पूर्णम् ||

 

सफलता हेतु :

यदि कोई काम काफी प्रयास के बावजूद सफल नहीं हो पा रहा तो आप एक लाल सूती का कपड़ा लें और उसमें रेशेयुक्त नारियल को लपेट लें और फिर बहते हुए जल में प्रवाह कर दें। जिस वक्त आप इसे जल में बहा रहे हों उस वक्त उस नारियल से सात बार अपनी कामना जरूर कहें।

बीमारी या संकट हटाने हेतु : एक साबूत पानीदार नारियल लें और उसे अपने उपर से 21 बार वारकर किसी देवस्थान की आग में डाल दें। यह उपाय आप मंगलवार और शनिवार को ही करें। ऐसा पांच बार करें। ऐसा घर के सभी सदस्यों के उपर से वारकर करेंगे तो उत्तम होगा।

इसके अलावा मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा पढ़े और एक बार उनको चौला अवश्य चढ़ा दें

स्थाई नौकरी हेतु :

नारियल के छिलकों को जलाकर भस्म तैयार करें और उसमें नारियल का ही पानी मिलाकर उसकी लुगदी बनाएं। फिर उस लुगदी की सात पुड़िया बनाएं। जिसमें से चार पुड़िया घर के चारों कोनों में रखें उनमें से एक पुड़िया घर की छत पर, एक पीपल की जड़ में और एक अपनी जेब में रखें। यह सावधानी रखें कि इस पर किसी की नजर और परछाई न पड़े।

जब सात दिन व्यतीत हो जाएं तो सभी पुड़िया एक जगह पर इकट्ठी कर लें। फिर उनमें से एक पुड़िया उस स्थान पर रखे जहां आप आजीविका कमाना चाहते हैं। वहां उसके द्वार के किसी कोने में छिपा कर रखें। हालांकि यह टोटका किसी जानकार से पूछकर करेंगे तो उचित होगा।

शनि संकट से मुक्ति हेतु :

सात शनिवार को किसी नदी में नारियल प्रवाहित करें। ध्यना रहे कि लगातार सात शनिवार करें इसमें किसी भी प्रकार का नागा नहीं होना चाहिए। नारिलय प्रवाहित करते हुए इस मं‍त्र का भी जाप करें- ॐ रामदूताय नम:।

निर्धनता दूर करने हेतु :

प्रति शुक्रवार को सुबह जल्दी उठकर नित्यकर्मों से निवृत्त होने के बाद श्रीगणेश और धन की देवी महालक्ष्मी का पूजन करें। पूजन में एक नारियल रखें। पूजा के बाद उस नारियल को तिजोरी में रख दें। रात के समय इस नारियल को निकालकर किसी गणेश मंदिर में अर्पित कर दें। साथ ही श्रीगणेश से निर्धनता दूर करने की प्रार्थना करें। ऐसा कम से कम पांच शुक्रवार करें।

ऋ‍ण उतारने के लिए :

 एक नारियल पर चमेली का तेल मिले सिन्दूर से स्वस्तिक का चिह्न बनाएं। कुछ भोग (लड्डू अथवा गुड़-चना) के साथ हनुमानजी के मंदिर में जाकर उनके चरणों में अर्पित करके ऋणमोचक मंगल स्तोत्र का पाठ करें। तत्काल लाभ प्राप्त होगा।

दूसरा उपाय शनिवार के दिन सुबह नित्य कर्म व स्नान आदि करने के बाद अपनी लंबाई के अनुसार काला धागा लें और इसे एक नारियल पर लपेट लें। इसका पूजन करें और उसको नदी के बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। साथ ही भगवान से ऋण मुक्ति के लिए प्रार्थना करें।

व्यापार लाभ के लिए : 

कारोबार में लगातार घाटा हो रहा हो तो गुरुवार के दिन एक नारियल सवा मीटर पीले वस्त्र में लपेटकर एक जोड़ा जनेऊ, सवा पाव मिष्ठान्न के साथ आस-पास के किसी भी विष्णु मंदिर में अपने संकल्प के साथ चढ़ा दें। तत्काल ही व्यापार चल निकलेगा।

धन संचय के लिए : 

यदि रुपया टिक नहीं पा रहा हो या सेविंग नहीं हो पा रही हो तो परिवार आर्थिक संकट में घिर जाता है। ऐसे में शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी के मंदिर में एक जटावाला नारियल, गुलाब, कमल पुष्प माला, सवा मीटर गुलाबी, सफेद कपड़ा, सवा पाव चमेली, दही, सफेद मिष्ठान्न एक जोड़ा जनेऊ के साथ माता को अर्पित करें। इसके पश्चात मां की कपूर व देसी घी से आरती उतारें तथा श्रीकनकधारा स्तोत्र का जाप करें। आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिलेगा।

कालसर्प या शनि दोष हेतु :

शनि, राहू या केतु जनित कोई समस्या हो, कोई ऊपरी बाधा हो, बनता काम बिगड़ रहा हो, कोई अनजाना भय आपको भयभीत कर रहा हो अथवा ऐसा लग रहा हो कि किसी ने आपके परिवार पर कुछ कर दिया है, तो इसके निवारण के लिए शनिवार के दिन एक जलदार जटावाला नारियल लेकर उसे काले कपड़े में लपेटें। 100 ग्राम काले तिल, 100 ग्राम उड़द की दाल तथा 1 कील के साथ उसे बहते जल में प्रवाहित करें। ऐसा करना बहुत ही लाभकारी होता है।

जिन लोगों की कुंडली में कालसर्प दोष हो या राहु-केतु अशुभ फल दे रहे हों तो सूखा नारियल या काला-सफेद रंग का कंबल दान करना चाहिए। ऐसा समय समय पर करते रहने से उक्त दोष दूर हो जाता है।

 

अपार धन संपत्ति पाने तथा आर्थिक सम्पन्नता::

अगर आपके कोई भी काम रुके हुए हैं या आपके मन में बहुत अधिक धन-वैभव की इच्छा है तो  आपको श्रीराधाकृष्ण के मंदिर में मोर के पंख की स्थापना करवानी होगी । नित्य दिन उस प्रतिमा की पूजा करें और 40वें दिन उस मोर के पंख को अपने साथ लाकर  तिजोरी या लॉकर में रख दें। उस समय से ही  धन-संपत्ति में वृद्धि  होना आरंभ हो जाएगी और लंबे समय से रुके पड़े काम भी स्वयं पूरे होने लगेंगे।

दुश्मन से मुक्ति पाने के लिए::

कोई भी व्यक्ति (या दुश्मन ) आपको बहुत ज्यादा परेशान या झगड़ा कर रहा हो तो किसी भी  मंगलवार या शनिवार के दिन को मोर पंख पर हनुमानजी की मूर्ति के मस्तक के सिंदूर से केवल एक मोरपंख पर अपने दुश्मन) का नाम लिखें तथा अपने घर के मंदिर में उसे रात भर रखें। अब आपको सुबह उठते ही  बिना नहाए-धोए तथा बिना किसी से बोले  प्रवाहित नदी के  पानी में उस मोर के पंख को बहा दें। ऐसा करने मात्र से ही बड़े से बड़ा दुश्मन भी मित्र बन जाता है और वह  आपको  साथ देने लगता है।

बच्चे का जिद्दीपन  दूर करने के लिए::

अगर आपका  बच्चा  बहुत ज्यादा जिद्दी  है और आपकी कभी भी कोई बात नहीं  मानता है तो आप उसे रोजाना मोर के पंखे से बने पंखे से रोजाना  हवा करें अथवा ऐसा नहीं होतो तो  सीलिंग फैन पर ही मोर के पंख चिपका दें। आपके बच्चे का जिद्दी स्वभाव बहुत ही जल्द  में अपने आप दूर हो जाएगा।

राहू के दुष्प्रभाव  को दूर करने के लिए::

मोर कालसर्प का शत्रु है इसलिए  जिन लोगों की जन्म कुंडली में राहू बुरा प्रभाव  दे रहा हो अर्थात कालसर्पदोष हो, उन्हें सदैव अपने साथ मोर के पंख को  रखना चाहिए।

बच्चे को लगी बुरी  नजर से बचाने के लिए::

नवजात शिशु या बच्चे  के सिरहाने पर चांदी के ताबीज में या उसके हाथ पर एक मोर पंख भरकर/ बांधकर  रखने से बच्चे को कभी नजर नहीं लगेगी और उसे सपने में डर  भी नहीं लगेगा।

कालसर्प दोष मुक्ति  के लिए::

जिन भी लोगों की जन्म कुण्डली में कालसर्प दोष का योग हो उन्हें तो  अपने तकिये  की खोल में 7 मोर के पंख सोमवार  की रत डालकर उस तकिए का रोजाना उपयोग करना चाहिए। और इसके साथ ही साथ बेडरूम की पश्चिम दिशा की दीवार पर आपको मोर पंखों का पंखा लगाना होगा जिसमें कम से कम 11 मोर के  पंख लगे हों । इतना करने से  कुंडली में राहू-केतू का दुष्प्रभाव कम हो जाएगा।

श्रीगणेश की मूर्ति :

अपने घर के मुख्य दरवाजे पर भगवान श्रीगणेश की मूर्ति स्थापित करें और सुबह उठकर उन्हें प्रणाम करें। इसके बाद अपने द्वार, देहली व सीढ़ी आदि पर पानी का छिड़काव करें। ऐसा करने से टोने-टोटके का प्रभाव नहीं पड़ता।

मुख्य दरवाजे पर पत्तियों : 

नीम, बबूल या आम में से किसी पेड़ की टहनी पत्तियों सहित मुख्य दरवाजे पर लटकाएं।

शनिवार के दिन :

शनिवार के दिन सात हरी मिर्च के बीच एक नींबू काले धागे में पिरोकर मुख्य द्वार पर लटकाएं। इससे भी बुरी नजर नहीं लगेगी।

एक बाल्टी पानी में :

सप्ताह के किसी एक दिन घर की साफ-सफाई करने के बाद एक बाल्टी पानी में थोड़ी शक्कर और दूध डालकर कुश से उसका छिड़काव पूरे घर में करें। आखिर में शेष पानी को दरवाजे के दोनों और थोड़ा-थोड़ा डाल दें।

अमावस के दिन :

अमावस के दिन एक ब्राह्मण को भोजन अवश्य कराएं। इससे आपके पितर प्रसन्न होंगे और आपके घर व परिवार को टोने-टोटको के अशुभ प्रभाव से बचाएंगे।